By: Bhopalmahanagar
11-03-2019 08:06

जसप्रीत बुमराह का गेंदबाजी एक्शन जिस तरह का है, उससे उनके पीठ के निचले हिस्से में चोट का खतरा है. शरीर क्रिया विज्ञान के लेक्चरर डॉ. साइमन फेरोस ने ऐसी आशंका जताई है. फेरोस और मशहूर फिजियो जॉन ग्लोस्टर आस्ट्रेलिया के विक्टोरिया में डिकिन यूनिवर्सिटी के खेल विभाग का हिस्सा हैं, जिन्होंने इस भारतीय तेज गेंदबाज के बॉलिंग एक्शन का अध्ययन किया.

दुनिया में खेल विज्ञान स्कूल में तीसरी रैंकिंग पर काबिज डिकिन यूनवर्सिटी का व्यायाम एवं पोषण विज्ञान स्कूल अपने क्षेत्र में शीर्ष पर है. फेरोस ने कहा, ‘बुमराह फ्रंट फुट की लाइन के बाहर गेंद को रिलीज करते हैं. इसका मतलब है कि वह गेंद को ‘पुश’ कर सकते हैं, आमतौर पर इससे दाएं हाथ के बल्लेबाज को बेहतरीन इन स्विंग गेंद फेंकते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘हालांकि अगर वह 45 डिग्री से ज्यादा मोड़ते हैं (जो मुझे लगता है कि वह कुछ मौकों पर ऐसा करते हैं), तो उनके एक्शन से उन्हें मेरुदंड के निचले हिस्से में कुछ चोटों की समस्याएं हो सकती हैं.’ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट जगत में कई को लगता है कि बुमराह का लंबे समय तक बिना चोटिल हुए बिना रहना मुश्किल होगा. हालांकि फेरोस और ग्लोस्टर ने कुछ सकारात्मक चीजें भी बताईं.

फेरोस ने कहा, ‘मेरुदंड के निचले हिस्से और कंधे के एक्शन के साथ उनके गेंद फेंकने के एक्शन को देखते हुए बुमराह का एक्शन सुरक्षित लगता है. इससे उनकी रीढ़ की हड्डी पर अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ता.’ ग्लोस्टर ने कहा, ‘उसका अनोखा एक्शन उसे लगातार उस तरह की गेंद फेंकने में मदद करता है, विशेषकर यॉर्कर. लसिथ मलिंगा के इतने प्रभावी होने की काबिलियत उनके अनोखे एक्शन की वजह से भी थी (जिससे कभी-कभी उनकी गेंद को खेलना मुश्किल हो जाता है).’

ग्लोस्टर ने बुमराह के एक्शन के अपने आकलन में कहा कि उनका शरीर एक ‘बेहतरीन मशीन’ है और साथ ही उन्होंने उनके कोचों की प्रशंसा भी की, जिन्होंने उनके एक्शन में छेड़छाड़ करने की कोशिश नहीं की. ग्लोस्टर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर में पिछले 17 वर्षों से काम कर रहे हैं और साढ़े तीन साल तक भारतीय टीम के फिजियो भी रहे थे.

मुख्य फिजियो के तौर पर करीब 55 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट दौरों व सीरीज में शामिल ग्लोस्टर ने कहा, ‘बुमराह ने अपने एक्शन में मदद के लिए अब तक मजबूती से मांसपेशियों पर इस तरह का नियंत्रण बना लिया है और वह इसमें इतना स्थिर हो गए हैं. उनका शरीर बेहतरीन मशीन है और समय के साथ वह इसमें अनुकूलित हो जाएगा, जिसमें लगातार इतनी तेज रफ्तार से सटीक गेंदबाजी करना शामिल रहेगा, जो देखने में अनोखा गेंदबाजी एक्शन लगता है.’
 

Related News
64x64

खेल डेस्क. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 12वां संस्करण 23 मार्च से शुरू होगा। पहला मुकाबला चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के बीच है। सीएसके आईपीएल की…

64x64

मुंबई इंडियंस के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण के शुरुआती छह मैचों में नहीं खेल पाएंगे. मलिंगा ने विश्व कप टीम में जगह बनाने…

64x64

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2019 में खेलने का सपना सजा रहे क्रिकेटर प्रशांत तिवारी से जुड़ी बुरी आई है। मुंबई इंडियन्स टीम के स्टैंडबॉय प्लेयर प्रशांत तिवारी पर होली की…

64x64

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की मौजूदा चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा है कि कप्तान महेंद्र सिंह धोनी लीग में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करेंगे.

फ्लेमिंग…

64x64

डेविड मिलर के हरफनमौला प्रदर्शन के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने बेहद रोमांचक टी-20 इंटरनेशनल मुकाबले में श्रीलंका को सुपर ओवर में मात दी. इसके साथ ही मेजबान टीम ने…

64x64

टीम इंडिया के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर ने एक बार फिर विराट कोहली पर निशाना साधा है. उन्होंने आईपीएल में कोहली की कप्तानी पर सवाल उठाए हैं. गंभीर ने इंडियन…

64x64

जयपुर. 23 मार्च से शुरू होने वाले क्रिकेट के छोटे प्रारूप का महाकुंभ आईपीएल का आगाज होने जा रहा है. राजस्थान रॉयल्स की टीम नई उमंग, नई ऊर्जा के साथ…

64x64

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का 12वां संस्करण शुरू होने को है और इस साल कई ऐसे युवा चेहरे हैं, जो विश्व की इस सबसे प्रतिष्ठित टी-20 लीग में पदार्पण रहे…