By: Bhopalmahanagar
20-03-2019 07:58

रायपुर। आप को याद होगा पिछले साल सेंटर फार साइंस एंड एनवायरमेंट (सीएसई) ने रायपुर में डीएमएफ पर एक कार्यशाला का आयोजन किया। इसमें रायगढ़, सरगुजा, जशपुर, कोरबा, बस्तर आदि खनिज बहुल जिलों से काफी संख्या में सामाजिक संगठन और प्रभावित ग्रामीण भी पहुंचे थे।

इसमें बताया गया कि कैसे कंपनियां सरकारी अफसरों को सेट कर ग्रामीणों के हितों की अनदेखी कर रही हैं। डीएमएफ में जो राशि आती है वह उन गांवों के भविष्य के लिए जमा होना चाहिए। इस राशि से शहरों में लाइब्रेरी और फुटपाथ बनाए जा रहे हैं। इन आरोपों की सुनवाई तब हुई जब प्रदेश में सरकार बदली। 15 साल के बाद कांग्रेस ने सरकार बनाई तो पहला काम यही किया कि डीएमएफ मद से हो रहे सभी कामों को बंद करने का आदेश जारी किया।

इस मद से भुगतान पर रोक लगी तो जिलों में चल रही कई परियोजनाएं ठप पड़ गईं। आलम यह है कि डीएमएफ खनन प्रभावितों को राहत तो पहले से ही नहीं दे पा रहा था अब ठेकेदारों को पेमेंट भी नहीं मिल पा रही है। सीएसई ने छत्तीसगढ़ सहित खनिज समृद्ध 12 राज्यों में डीएमएफ मद से ग्रामीणों के जीवन में आए बदलाव का अध्ययन किया है।

छत्तीसगढ़ के खनन प्रभावित नौ जिलों में अप्रैल 2018 तक डीएमएफ में 2746 करोड़ रूपये आए जिसमें से 57 फीसद कोयला खदानों से मिला है। डीएमएफ की परियोजनाओं के लिए इस अवधि में 3133 करोड़ रूपये की स्वीकृति दी गई है। इसमें शिक्षा के लिए महज 25 फीसद राशि दी गई है।

इस 25 प्रतिशत राशि का भी 70 फीसद शैक्षणिक भवनों के निर्माण पर खर्च किया गया। डीएमएफ की मूल अवधारणा के विपरीत राज्य सरकार निर्माण परियोजनाओं को जनकल्याण की परियोजना में शामिल करती रही। जिलों में डीएमएफ निकाय में सरकारी अधिकारियों और बड़े नेताओं का प्रभुत्व है, जनता की भागीदारी न के बराबर है।

डीएमएफ कार्यालय तक नहीं खुले

जिन नौ जिलों को सीएसई ने अध्ययन किया है उनमें से सिर्फ तीन में डीएमएफ कार्यालय स्थापित किया गया है। जहां कार्यालय हैं वहां भी अधिकांश पद खाली पड़े हैं। स्वास्थ्य, शिक्षा, बाल पोषण जैसे महत्वपूणर््ा मुद्दों को नजरअंदाज किया जा रहा है।
 

Related News
64x64

रायपुर। छत्तीसगढ़ की सात लोकसभा सीटों के लिए 23 अप्रैल को मतदान होगा। इसके साथ ही राज्य के सभी 11 सीटों पर मतदान की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। बस्तर समेत…

64x64

भिलाई । जेवरा सिरसा चौकी क्षेत्र के ग्राम समोदा के राइस मिल में हुए हादसे के बाद चलाया जा रहा रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा हो चुका है। एसडीआरएफ की टीम ने…

64x64

बीजापुर । जिले के पामेड़ थाना क्षेत्र में रविवार की सुबह बीजापुर पुलिस और तेलंगाना के ग्रेहाउंड्स के जवानों ने संयुक्त अभियान के दौरान दो नक्सलियों को मार गिराया था।…

64x64

जगदलपुर। डीआरजी दो में तैनात जवान जोहन मंडावी ने अवकाश न मिलने से नाराज होकर अपनी ही मोटरसायकिल को आग के हवाले कर दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार दो दिन…

64x64

रायपुर। लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान से ठीक तीन दिन पहले छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी के तीन नेताओं ने पार्टी छोड़कर कांग्रेस में प्रवेश…

64x64

रायपुर। दो बेरोजगार बेटियों को नौकरी लगवाने के लालच में गुढ़ियारी की एक महिला ठगी की शिकार हो गई। निजी स्कूल के संचालक ने नौकरी दिलाने का झांसा देकर महिला…

64x64

बिलासपुर । बिलासपुर में एक युवकी की फंदे पर झूलती लाश मिलने से सनसनी फैल गई है। मिली जानकारी के मुताबिक बिलासपुर के बोदरी इलाके में पूर्व विधायक सियाराम कौशिक…

64x64

बेमेतरा। शुक्रवार सुबह आठ बजे राष्ट्रीय राजमार्ग में हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई। घटना ग्राम जेवरा और रांका के बीच की है। सुबह आठ बजे मोपेड टीवीएस…