By: Bhopalmahanagar
12-04-2019 08:46

भोपाल। प्रधानमंत्री मोदी की जीवन पर बनी फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी' ( Modi Biopic) को लेकर वितरकों, सिनेमाघर संचालकों और दर्शकों में खासा उत्साह था। फिल्म में मोदी का किरदार निभा रहे विवेक ओबेरॉय ने रिलीज होने से पहले दर्शकों के बीच फिल्म को लेकर जिस तरह उत्सुकता पैदा की थी, फिल्म की डिमांड को देखते हुए वे अपने मकसद में कामयाब भी रहे। लेकिन, इस उत्साह और उत्सुकता पर फिल्म पर लगी रोक ने पानी फेर दिया।

फिल्म से अच्छे बिजनेस की उम्मीद लगा बैठे वितरकों का मानना है कि अब फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी' का भविष्य नई सरकार से ही तय होगा। मोदी प्रधानमंत्री बने तो फिल्म की डिमांड होगी और नहीं बने तो उसका असर अलग होगा। करीब 20 करोड़ की लो-बजट फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी' 12 अप्रैल को पूरे देश में रिलीज होना थी। लोकसभा चुनाव के मद्देनजर विवेक ओबेरॉय स्टारर यह फिल्म रिलीज की तारीख आते ही विवाद में आ गई थी। दो दिन पहले 10 अप्रैल को अंतत: केंद्रीय चुनाव आयोग ने आचार संहिता तक फिल्म रिलीज करने पर रोक लगा दी। हालांकि इससे पहले नौ अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट द्वारा आपत्ति पर सुनवाई से इनकार करने और केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) यानी सेंसर बोर्ड से मंजूरी मिलने पर वितरकों के पास सिनेमाघर संचालकों और मल्टी प्लेक्स कंपनियों की जमकर डिमांड पहुंच गई थी।

अकेले मध्य भारत से वितरकों के पास 80 सिनेमाघरों ने फिल्म प्रदर्शन का अनुबंध एक दिन में कर लिया था, इनमें 40 मल्टीप्लेक्स थे। वहीं पूरे मध्य प्रदेश की बात करें तो यह संख्या 300 के आसपास पहुंच गई थी। सेंसर बोर्ड की मंजूरी मिलते ही बुक माय शो एप पर एडवांस बुकिंग ओपन होते ही महज दो घंटे में बड़ी संख्या में दर्शकों ने टिकट बुक कर दी थी। लेकिन जैसे ही चुनाव आयोग का आदेश आया, बुकिंग प्लान वापस ले लिया गया। मध्य भारत फिल्म एसोसिएशन के ओपी गोयल बताते हैं कि ऐसी मांग बड़े बजट, बड़े स्टारर की फिल्मों के साथ बनती है जिनका दर्शकों को बेहद उत्सुकता से इंतजार रहता है।

वहीं सिने सर्किट एसोसिएशन के जितेंद्र जैन का मानना है कि फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी' को लेकर दर्शकों में उत्सुकता और ट्रेड में उम्मीद का कारण नरेंद्र मोदी का वर्तमान में प्रधानमंत्री होना भी है। यह माहौल फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी' की अगली रिलीज डेट तक भी बना रहेगा, यह नई सरकार से ही तय होगा। बहरहाल यह जरूर है कि फिल्म की डिमांड को देखते हुए रोक से जहां ट्रेड को निश्चित ही करोड़ों का नुकसान हुआ है, वहीं दर्शक भी निराश हुए हैं।


सलिए फ्लॉप हुई थी एक्सीडेंटल प्राइममिनिस्टर

वितरकों का मानना है दर्शक वर्तमान आधारित विषयों को जयादा पसंद करता है। एक्सीडेंटल प्राइममिनिस्टर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर आधारित थी, इसलिए भरपूर प्रोमो के बाद भी फ्लाप हो गई। फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी" वर्तमान प्रधानमंत्री मोदी पर केंद्रित है इसलिए अभी उसकी अच्छी डिमांड बनी थी।
 

Related News
64x64

भोपाल। भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह आज नामांकन दाखिल करेंगे। पर्चा भरने से पहले वो झरनेश्वर मंदिर पहुंचे और यहां दर्शन के बाद शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती के…

64x64

चुनाव से पहले एमपी मे बिजली का मुद्दा छाया हुआ है। प्रदेश में बिजली सरप्लस है बावजूद इसके कटौती हो रही है, बीजेपी मुद्दा बनाकर सरकार को घेर रही है,…

64x64

भोपाल। भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार बनाए जाने के बाद से ही साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने हमलावर तेवर अपनाए हुए हैं। वो बार-बार दिग्विजय सिंह पर निशाना साध रही…

64x64

भोपाल| लोकसभा चुनाव में मंत्रियों के परफॉर्मेंस का भी आंकलन किया जा रहा है| मंत्रिमंडल गठन के बाद ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इसके संकेत दे दिए थे | मंत्रियों को…

64x64

सतना। आज सुबह चित्रकूट के रावतपुरा सरकार इंटरनेशनल स्कूल की बस ने एक बच्चे को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जोरदार थी कि 11 साल के बच्चे सनी की मौके…

64x64

ग्वालियर। विधानसभा चुनावों में नामांकन फार्म भरने की तारीख से ठीक पहले कांग्रेस छोड़कर हाथी की सवारी करने वाले साहब सिंह गुर्जर ने घर वापसी कर ली है। साहब सिंह…

64x64

राजगढ़। राजगढ़ जिले के कुरावर क्षेत्र में छात्रा का अपहरण कर दुष्कर्म करने वाले शिक्षक को अदालत ने 10 साल कैद की सजा सुनाई है। विशेष लोक अभियोजक आलोक श्रीवास्तव…

64x64

शहडोल। लोकसभा चुनाव को लेकर मध्य प्रदेश में घमासान तेज हो गया, प्रत्याशियों ने जीत के लिए पूरा जोर लगाना शुरू कर दिया है| भाजपा की कब्जे वाली सीट शहडोल…