By: Bhopalmahanagar
13-04-2019 07:28

रामनवमी पर पश्चिम बंगाल में सियासत एक बार फिर तेज हो गई है. कोलकाता पुलिस ने राम नवमी के अवसर पर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ताओं को बाइक रैली निकालने की इजाजत नहीं दी है. पुलिस ने विश्व हिंदू परिषद की बाइक रैली शुरू होने के ठीक पहले इजाजत देने से मना कर दिया.

विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं से कहा गया था कि वे रैली के दौरान राम की केवल एक ही तस्वीर का इस्तेमाल करेंगे. विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं में रैली करने की इजाजत रोक दिए जाने पर भारी रोष है. पुलिस की रैली रोके जाने के बाद विहिप सदस्यों ने राम की तस्वीर के साथ भगवे झंडे के साथ स्थानीय रैली निकालने की कोशिश की.

विहिप की यह रैली दक्षिण बंगाल में व्यापक तौर पर होने वाली थी. विहिप ने दावा भी किया था कि इस बार की रैली में हथियारों का प्रदर्शन बिलकुल भी नहीं किया जाएगा. विहिप के संगठन सचिव सचिंद्रनाथ सिन्हा ने कहा था, 'हमारी संस्था की अधिकृत रैली में पुलिस के दिए गए आदेशों का पालन किया जाएगा. इस रैली में कोई भी हथियार लेकर नहीं आएगा.'
सचिंद्रनाथ ने दावा किया था कि दक्षिम बंगाल में विहिप की 700 छोटी और बड़ी रैलियां करने की योजना है. चुनाव की वजह से उत्तर बंगाल में कम रैलियां प्रस्तावित की गई थीं.


विहिप की इस रैली का कनेक्शन भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) से भी जोड़ा गया. हाल ही में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने कहा था कि बीजेपी  चुनावों के दौरान सांप्रदायिक माहौल देकर अपने पक्ष में माहौल बना रही है.

इससे पहले सिलिगुड़ी पुलिस ने राहुल गांधी के हेलिकॉप्टर की लैंडिंग कराने से मना कर दिया था जिसके बाद कांग्रेस ने सिलीगुड़ी में होने जा रही रैली को रद्द कर दिया था. पुलिस ने इसके पीछे सुरक्षा कारणों का हवाला दिया था.

बहुत संवेदनशील है पश्चिम बंगाल

पिछले साल 26 मार्च, रामनवमी के एक दिन बाद पश्चिम बंगाल के आसनसोल में रामनवमी के दिन भड़की सांप्रदायिक हिंसा की चर्चा पूरे देश में हुई थी. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का जिक्र किया गया था कि राम नवमी के जुलूस के दिन बजाए जा रहे गानों को लेकर विवाद हुआ था जिसके बाद दंगा भड़का.

पहले रामनवमी के जुलूस पर पत्थरबाजी हुई फिर एक गाड़ी को आग लगा दी गई थी. इस घटना के बाद आसनसोल में भड़का सांप्रदायिक हिंसा राज्यव्यापी हो गई. इस घटना पर खूब बयानबाजी और सियासतबाजी की गई.

इस सांप्रदायिक दंगे में महेश मंडल की रानीगंज में और सिबतुल्ला रशीदी की आसनसोल में मौत हो गई थी. दो संप्रदायों के बीच हुई इस झड़प में कई लोग घायल भी हुए थे और कई घरों और दुकानों को दंगाईयों में आग लगा दी थी.
 

Related News
64x64

कानपुर में शुक्रवार देर रात 1 बजे के करीब पूर्वा एक्सप्रेस के 12 डिब्बों के पटरी से उतर जाने के बाद घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य जारी है, रूट…

64x64

यूपी और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे एन.डी. तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी (40) की मौत के मामले में शुक्रवार को नया ट्विस्ट आ गया। जिसे अबतक सामान्य मौत बताया…

64x64

लोकसभा चुनाव से पहले दिल्ली में गठबंधन को लेकर बड़ी खबर आई है. दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन नहीं हो पाएगा. आप नेता मनीष सिसोदिया…

64x64

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की 26/11 के हीरो हेमंत करकरे पर दिए गए बयान से भले ही बीजेपी ने शुक्रवार को दूरी बना ली, लेकिन पार्टी भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस…

64x64

सस्ती विमान यात्रा मुहैया कराने वाली एयरलाइन स्पाइसजेट ने कहा है कि उसने पहले ही जेट एयरवेज के 100 पायलट सहित 500 से अधिक कर्मचारियों को नौकरी पर रख लिया…

64x64

मालेगांव धमाके की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल सीट से बीजेपी ने अपना प्रत्याशी बनाया है. इस ऐलान के बाद से ही साध्वी प्रज्ञा को चुनाव लड़ने से…

64x64

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने अपने ऊपर लगे यौन शोषण के आरोप को खारिज करते हुए कहा कि न्यायपालिका खतरे में है। उन्होंने सीधे तौर पर कहा…

64x64

भाजपा मुख्यालय में गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वरिष्ठ नेता जीवीएल नरसिम्हा राव पर जूता फेंकने वाले शक्ति भार्गव शुक्रवार को कानपुर में अपने घर पहुंचे। आपको बता दें…